Sunday, January 19, 2020

Happy Holi Poems In Hindi Language {10+ Short Holi Rhymes}

Holi celebration is not so far, so most of you will be searching for holi poems in hindi language. As holi is festival of hindus and people like to wish happy holi with short poems on holi in hindi.

Here you will find hindi holi poemholi hindi poemholi celebration poem in hindi. So what are you looking for, let’s pick a hindi holi poem out of these short poems on holi in hindi and wish a very happy holi to friends, classmates and family.



holi hindi poem

holi hindi poem

Collection of Holi Poems in Hindi English :


Just go through this huge collection of holi poems in hindi english font. You will love those holi hindi poem. 

Rang-rangeeli masti waala, aaya hai holi ka tyohaar. prem bhaav se ise manaayein, na ho koi bhi takraar. Rang-birange iss parv par.. hota bina kiye shringaar. naache gaayeing dhol bajaayein, hum bachchon ki toli bharmaar. rang lagaayein ek duje ko, kare prem ras ki bauchhar, jaati-majhab sab bhoole aaj, badon ko aadar, chhoto ko dein pyar. reet-preet, geet-meet aur, rang umang tarang upahaar, bhed bhaav mitaane dil ka, aata hai holi ka tyohaar.

Dil ne ek baar aur humaara kehna maana hai,
Is holi pe phir useh rangne jaana hai.

Har saal khareeden hain rang, kari hai tayaari,
Is baar to khelenaa humaare saath, dekhnaa raah humaari.

Shahar mein sabse pooch rahe hain , rang-e-mohabbat kahaan milega
Raat ko khuda ne bataaya ki abhi aur imtehaanon se guzarnaa parega

Neela, hara , peela , gulaabi yeh sab to ek bahaana hai,
Holi ka ho din ya kuch aur hume to tumse milne aana hai

Is Holi pe useh rangne jaana hai,
Is Holi pe useh rangne jaana hai

Aao Mil Ke Manaaye Khushiyaan
Bura Na Mano Holi Hai!

Apno Ko Hum Rang Lagaye,
Bura Na Mano Holi Hai!

Bachat Kare Hum Pani Ki,
Bura Na Mano Holi Hai!

Phoolo Se Hum Khele Holi,
Bura Na Mano Holi Hai!

Kisi Ko Na Thes Pahuchaye
Bura Na Mano Holi Hai!

Naye Naye Pakwan Khaye
Bura Na Mano Holi Hai!

Best Holi Hindi Poem :


In this section we have picked happy holi poems in hindi font. Let’s make holi celebration unique with these best holi hindi poem.

कौन रंग फागुन रंगे, रंगता कौन वसंत?
प्रेम रंग फागुन रंगे, प्रीत कुसुंभ वसंत।
चूड़ी भरी कलाइयाँ, खनके बाजू-बंद,
फागुन लिखे कपोल पर, रस से भीगे छंद।
फीके सारे पड़ गए, पिचकारी के रंग,
अंग-अंग फागुन रचा, साँसें हुई मृदंग।
धूप हँसी बदली हँसी, हँसी पलाशी शाम,
पहन मूँगिया कंठियाँ, टेसू हँसा ललाम।
कभी इत्र रूमाल दे, कभी फूल दे हाथ,
फागुन बरज़ोरी करे, करे चिरौरी साथ।
नखरीली सरसों हँसी, सुन अलसी की बात,
बूढ़ा पीपल खाँसता, आधी-आधी रात।
बरसाने की गूज़री, नंद-गाँव के ग्वाल,
दोनों के मन बो गया, फागुन कई सवाल।
इधर कशमकश प्रेम की, उधर प्रीत मगरूर,
जो भीगे वह जानता, फागुन के दस्तूर।
पृथ्वी, मौसम, वनस्पति, भौरे, तितली, धूप,
सब पर जादू कर गई, ये फागुन की धूल।



 holi poems in hindi language


holi poems in hindi language

होली आई होली आई
संग अपने आशा और उमंग लाई

हम तुम्हारे हो लिए
तुम हमारे हो लिए
ये प्यार का संदेसा लायी

सब है भाई भाई
तुम ना करो कोई लड़ाई
होली आई होली आई

होली के ये प्यारे प्यारे रंग
लाल ,गुलाबी ,पीला,हरा
भर देता मन में अनेक खुशियाँ
हो जाता जीवन हरा भरा

आओ तुम्हे रंग लगाये
और शोर मचाये
होली आई होली आई

पानी से भरे गुब्बारे और पिचकारी
बच्चे लिए हाथ में भीगते और नाचते
रंगों में पुते यह सफ़ेद काले चेहरे
कोई इनको नहीं सकता पहचान
यहाँ है सब एक समान

गले से गले लगाकर चिल्लाते
बुरा ना मानो होली है
होली आई होली आई
प्यार का संदेसा लाई

तन रंगे मन रंगे,
रंगे ओसारे गलियां और गाँव !
यूं तो बसे हुए हैं जहां में सातों रंग रंगीले,
सात सुरों में मिल कर गाएं आजा जमुना तीरे !
सात सुरों और सात रंगों का संगम होली आयी,
भांग घूंट कर पिचकारी भर, सब बन गए कन्हाई!

बुरा न मानो होली है
रंगों के संग, मस्ती की टोली है

बुरा न मानो होली है
उमीदो की मिठाई है

खुशियों संग मिलाई है
उल्लास में दुबे है सभी

मस्ती हर दिल पर छाई है
कोई नीला है, कोई है हरा

चारो तरफ इन्द्रधनुष सा रंग भरा
खुश हम भी है, हर्ष की बात है

अपनों के संग हर होली खास है

होली है भई होली है,
बुरा न मानो होली है!

आऒ मिल के खुशियाँ मनाएं,
अपनों को हम रंग लगाएँ!

फूलों से हम खेलें होली,
बचत करें हम पानी की!
सब मिल कर जोर से गाएं,
बुरा न मानो होली है!

किसी को ना ठेस पहुचाएं,
नए नए पकवान खाएं और खिलाएं!

खुद भी रंग लगाएं
और दूसरों पर भी अबीर लगायें
टोली बना कर गाएं हम सब
बुरा न मानो होली है!

~ तुम अपने रँग में रँग लो तो होली है ~


तुम अपने रँग में रँग लो तो होली है। देखी मैंने बहुत दिनों तक दुनिया की रंगीनी, किंतु रही कोरी की कोरी मेरी चादर झीनी, तन के तार छूए बहुतों ने मन का तार न भीगा, तुम अपने रँग में रँग लो तो होली है अंबर ने ओढ़ी है तन पर चादर नीली-नीली, हरित धरित्री के आँगन में सरसों पीली-पीली, सिंदूरी मंजरियों से है अंबा शीश सजाए, रोलीमय संध्या ऊषा की चोली है। तुम अपने रँग में रँग लो तो होली है।


Below are some 5 lines on holi for kids. So kids celebrate holi with these Hindi lines on holi.

Keep browsing for more poems on holi in hindi language. You will find some awesome short poems on holi in hindi.

Short Poems on Holi in Hindi Font :


स्नेह का अबीर हो सदभाव की फुहार हो धूप अनुराग की फागुनी बयार हो हो राग -रंग की रंगोली ऐसी खेलें आज होली।


short poems on holi in hindi


short poems on holi in hindi

गांधी आएँ, गौतम आएँ ईसा और मोहम्मद आएँ साधु-सन्त देव आएँ प्रेम की गाथा सुनाएँ विश्वास से भरी हो झोली मिलजुल खेलें आज होली।

Here is another beautiful poem on holi in hindi language.


holi poem


holi poem

We hope you enjoyed above holi hindi poem. Share hindi holi poem that you liked most so that your friends can also get best poem on holi and Holi rhymes in hindi for happy holi 2020.

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search